Friday, December 25, 2009

कुछ पुरानी यादें..


...

"सुना था..

होतीं हैं..
परियों की कहानियाँ..

देखा तो..
याद आयीं रवानियाँ..

गुनगुनाती हुई..
मुस्कुराती हुई जवानियाँ..

क्या मिलती हैं..
अब तलक..

बादलों को ओढ़े..
तारों की निशानियाँ..!"

...

4 ...Kindly express ur views here/विचार प्रकट करिए..:

अजय कुमार said...

अच्छी कविता

कृपया वर्ड-वेरिफिकेशन हटा लीजिये
वर्ड वेरीफिकेशन हटाने के लिए:
डैशबोर्ड>सेटिंग्स>कमेन्टस>Show word verification for comments?>
इसमें ’नो’ का विकल्प चुन लें..बस हो गया..कितना सरल है न हटाना
और उतना ही मुश्किल-इसे भरना!! यकीन मानिये

Udan Tashtari said...

बहुत बढ़िया.


वर्ड वेरिफिकेशन के लिए अजय भाई ने सुझा ही दिया है. :)

Priyankaabhilaashi said...

बहुत-बहुत धन्यवाद अजय जी...

हमने आपके कहे अनुसार..वर्ड-वेरिफिकेशन हटा दिया है..!!

आपके सुझाव सदैव आमंत्रित हैं..

Priyankaabhilaashi said...

उड़न तश्तरी जी..

बहुत-बहुत धन्यवाद..