Wednesday, February 10, 2010

'फफ़कने ना देंगे..'


...

"शून्यता कभी होने ना देंगे..
चिंगारियां कभी बुझने ना देंगे..
बढ़ते रहो..हर डगर..ए-पथिक..
हौसलें कभी फफ़कने ना देंगे..!"

...

8 ...Kindly express ur views here/विचार प्रकट करिए..:

दिगम्बर नासवा said...

आमीन .......... दिल की आग कभी बुझने न पाए ........ देश भक्ति का जज़्बा दिल में रहे .........

हृदय पुष्प said...

"हौसले कभी फ़फकने ना देंगे" सुंदर शब्द - जज्वा सलामत रहे.

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद दिगंबर जी..!!

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद ह्रदय पुष्प जी..!!

RaniVishal said...

आपका दिल से आभार.....यहि जुनून बना रहे!!
सादर
http://kavyamanjusha.blogspot.com/

विचारों का दर्पण said...

बहुत खूब .....आपकी कविता ने हमारे खून में और जोश भर दिया

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद विचारों का दर्पण जी..!!

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद ranivishal जी..!!