Thursday, March 11, 2010

'लालिमा..'



...

"निकाला है..
आईना फिर..
तेरी चाहत का..
अरसे बाद..

लालिमा..
अब तक..
रखती है हुनर..
नज़रें बाँधने का..!"

...

8 ...Kindly express ur views here/विचार प्रकट करिए..:

khyalat said...

बहुत खुब।

M VERMA said...

लालिमा नज़र बाँधने का हुनर रखे न रखे, नज़रों को हुनर आनी चाहिये बँध जाने का.
सुन्दर
अन्यथा न लें शायद टंकण की त्रुटि हो : मेरे खयाल से 'निकाला है' की जगह 'निकला है' होना चाहिये.

Udan Tashtari said...

वाह!

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद ख्यालात जी..!!

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद उड़न तश्तरी जी..!!

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद वर्मा जी..!!

सुझाव के लिए धन्यवाद..परन्तु यहाँ हमने 'निकाला' ही लिखा है..!!

Amitraghat said...

behtreen.......
amitraghat.blogspot.com

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद अमित जी..!!