Friday, April 30, 2010

' ए-महबूब..'


...

"मौसम बचपन-सा खुशनुमा है आज..
हँस के आँखों से बहे हैं आँसू आज..
ना जाना ए-महबूब..इक पल को भी दूर..
हो जाऊँगा..तेरी चाहत में मशहूर..!!"

...

6 ...Kindly express ur views here/विचार प्रकट करिए..:

Udan Tashtari said...

बहुत बढ़िया.

दिलीप said...

bahut sundar...

देवेश प्रताप said...

वाह!...लाजवाब

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद उड़न तश्तरी जी..!!

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद दिलीप जी..!!

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद देवेश प्रताप जी..!!