Friday, June 11, 2010

'सनम..'



...


"तेरे हर नक़ाब से..
हकीकत चुरा लूँगा..
जो ना मिले तुम सनम..
अक्स मिटा दूँगा..!!!"

...

4 ...Kindly express ur views here/विचार प्रकट करिए..:

Jandunia said...

nice

संजय भास्कर said...

वाह ! कितनी सुन्दर पंक्तियाँ हैं ... मन मोह लिया इस चित्र ने तो !

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद जनदुनिया जी..!!

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद संजय भास्कर जी..!!