Tuesday, August 17, 2010

'बादशाह-ए-तालीम..'





उन चंद फाज़िलों को इक तोहफा..जिनकी हवस से आबाद(बर्बाद) होते हैं..हमारे मुल्क के बेशुमार 'अहल-ए-खिरद'..


...

"कीमती सिफारिश..
निगल गयी..
गर्द-ए-हिज़ाक़त*..
शुक्रिया..
बेगैरत बादशाह-ए-तालीम..!!"


...


*अहल-ए-खिरद = Intelligent ..
हिज़ाक़त = Intelligence ..!!

2 ...Kindly express ur views here/विचार प्रकट करिए..:

हमारीवाणी.कॉम said...

क्या आप "हमारीवाणी" के सदस्य हैं? हिंदी ब्लॉग संकलक "हमारीवाणी" में अपना ब्लॉग जोड़ने के लिए सदस्य होना आवश्यक है, सदस्यता ग्रहण करने के उपरान्त आप अपने ब्लॉग का पता (URL) "अपना ब्लाग सुझाये" पर चटका (click) लगा कर हमें भेज सकते हैं.

सदस्यता ग्रहण करने के लिए यहाँ चटका (click) लगाएं.

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद हमारीवाणी.com..!!!