Friday, September 24, 2010

'मासूमियत की 'लोरी'..'


...


"खिलखिलाती आँखें..
चहकता बचपन..
भोली शैतानियाँ..
टपकता अल्हड़पन..

महँगी हो गयीं है..
अब..
मासूमियत की 'लोरी'..!!"

...

2 ...Kindly express ur views here/विचार प्रकट करिए..:

M VERMA said...

मँहगी ही नहीं दुर्लभ हो गयी है

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद वर्मा जी..!!