Thursday, September 23, 2010

'गुबार..'



...


"रंजिश है..
गुबार दिखा..

यूँ बंजर भी..
तूफाँ उठाता है..!!"

...

4 ...Kindly express ur views here/विचार प्रकट करिए..:

संजय भास्कर said...

truly brilliant..

M VERMA said...

और फिर बंजर जब तूफान उठाता है तो सब कुछ तूफानी हो जाता है.

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद संजय भास्कर जी..!!

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद वर्मा जी..!!