Thursday, November 4, 2010

'काजल के पन्ने..'


...


"बहुत उलझे है..
चाहत के साये..
थाम लेना..
काजल के पन्ने..
और..
यादों के पाये..!!"

...

6 ...Kindly express ur views here/विचार प्रकट करिए..:

DIMPLE SHARMA said...

बहुत अच्छा पोस्ट , दीपावली की शुभकामनाये
sparkindians.blogspot.com

Udan Tashtari said...

कालज के पन्ने (इसका क्या अर्थ होता है?)


सुख औ’ समृद्धि आपके अंगना झिलमिलाएँ,
दीपक अमन के चारों दिशाओं में जगमगाएँ
खुशियाँ आपके द्वार पर आकर खुशी मनाएँ..
दीपावली पर्व की आपको ढेरों मंगलकामनाएँ!

-समीर लाल 'समीर'

डॉ .अनुराग said...

well said......

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद डिम्पल शर्मा जी..!!

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद उड़न तश्तरी जी..!!

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद डॉक्टर साब ..!!