Friday, January 18, 2013

'हास्य कविता..'


कुछ हटकर...बहुत हुआ रोना-धोना, अब गया 'रोतलू पोस्ट्स' का सीज़न..

एन्जॉय फोल्क्स..

...

"बहुत हुई तौहीन..
इस दफा..
अब लिखूँगी..
सिर्फ हास्य कविता..

कहिये जनाब..
आपके वहाँ ठंड है..??
इसलिए ट्रैफिक का..
आवागमन बंद है..

चल रहीं हैं..
बर्फीली हवाएँ..
आउटडेटेड हुईं..
तेरी अदाएँ..

रंगीली हो तुम..
मेरी जां..
प्लीज मत करो..
आँखें चार..

चलती हूँ..
नींद के पास..
मत लेना खर्राटे..
मेरे आसपास..!!"

...

9 ...Kindly express ur views here/विचार प्रकट करिए..:

दिगम्बर नासवा said...

बहुत खूब ... इस निर्मल हास्य में मज़ा आया ...

Vibha Rani Shrivastava said...

मंगलवार 22/01/2013को आपकी यह बेहतरीन पोस्ट http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर लिंक की जा रही हैं .... !!

आपके सुझावों का स्वागत है .... !!
धन्यवाद .... !!

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

:):) यह भी खूब रही ।

दिगम्बर नासवा said...

बहत खूब ...

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद विभा रानी जी..!! आभारी हूँ..!!

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद संगीता आंटी..!!

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद दिगम्बर नासवा जी..!!

Reena Maurya said...

बेहतरीन।।।।
:-)

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद रीना मौर्या जी..!!