Saturday, April 6, 2013

'उलझती-सुलगती..'



...

"उलझती-सुलगती छल्लों की कारीगरी..
चल बिछायें इन पर..शब्दों की जादूगरी..!!!"

...

4 ...Kindly express ur views here/विचार प्रकट करिए..:

Yashwant Mathur said...


कल दिनांक 08/04/2013 को आपकी यह पोस्ट http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर लिंक की जा रही हैं.आपकी प्रतिक्रिया का स्वागत है .
धन्यवाद!

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद यशवंत माथुर जी..

आभारी हूँ..

Manju Mishra said...

Very nice !

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद मंजू मिश्रा जी..!!