Wednesday, April 23, 2014

'विश्व पुस्तक दिवस..'



...


"आज विश्व पुस्तक दिवस है..

मेरी पुस्तक के पहले पन्ने से आखिरी तक..तुम ही मेरा विश्व हो..मेरे प्रत्येक दिवस की पुस्तक..मेरी रात्रि की स्याही हो..!!"

...


--पुस्तक का मूल आधार तुम हो..प्रिये.. <3

4 ...Kindly express ur views here/विचार प्रकट करिए..:

parul chandra said...

Isse best nahi ho sakta tha....

डॉ. मोनिका शर्मा said...

:) Sunder

Priyanka Jain said...

धन्यवाद पारुल जी..!!

Priyanka Jain said...

धन्यवाद डॉक्टर शर्मा जी..!!