Monday, April 28, 2014

'श्वेत पुष्प..'





...


'कितना श्वेत है तुम्हारा श्वेत पुष्प..अपनी पीताम्बरी को स्नेह से जोड़ता होगा यूँ ही..!!"

...


--प्रगाढ़ गठजोड़ इसे ही कहते है न..प्रिये.. <3

9 ...Kindly express ur views here/विचार प्रकट करिए..:

Yashwant Yash said...

वाह!

Priyanka Jain said...

धन्यवाद यशवंत जी..!!

संजय भास्‍कर said...

गजब की अभिव्‍यक्ति।

Priyanka Jain said...

धन्यवाद संजय भास्कर जी..!!

सुशील कुमार जोशी said...

:) अच्छा है !

Priyanka Jain said...

धन्यवाद सुशील कुमार जोशी जी..!!

Digamber Naswa said...

पीतांबरी श्वेत के साथ ... बंधन अटूट ...

Priyanka Jain said...

धन्यवाद दिगंबर नास्वा जी..!!

shephali said...

हाँ शायद यही तो है
सुन्दर अभिव्यक्ति