Sunday, May 11, 2014

' माँ..'







...


"चहुँ ओर माँ के लिए संदेश..अपना वर्चस्व जमा रहे हैं.. विस्मित होना आवश्यक है..हम भारतवर्ष के निवासी..और..माँ की महिमा का बखान..अंग्रेज़ों की इच्छाशक्ति अनुसार..??
माँ को नमन करना..क्या आज ही पर्याप्त है..??"


...


--ज्ञान-चक्षु और ह्रदय-पटल की साझा योजना..

##तथाकथित अंग्रेज़ी वाला 'मदर्ज़ डे' के संदर्भ में..

4 ...Kindly express ur views here/विचार प्रकट करिए..:

Digamber Naswa said...

माँ का बयान पूरा वर्ष .. पूरी उम्र हो तो भी कम है ... फिर आज भी शामिल है पूरी उम्र में तो आज भी क्यों नही ...

संजय भास्‍कर said...

माँ के लिये स्नेह की बहुत ही प्यारी अभिव्यक्ति है ।

Priyanka Jain said...

धन्यवाद दिगंबर नास्वा जी..!!

Priyanka Jain said...

धन्यवाद संजय भास्कर जी..!!