Wednesday, May 7, 2014

'छुअन का दौर..'



...


"इक नाम तुम्हारा..मेरे सेलफोन पर सबसे ज्यादा शाइन करता है..!! फिर उभरता है रूह की सबसे नीचे वाली तह पर..छुअन का दौर..जैसे करंसी नोट पर महसूस होते.. ऍम्बोसड डिनोमीनेशन..!!"

...


--योर स्फीयर ऑफ़ इन्फ्लुएंस..सब जगह.. <3

3 ...Kindly express ur views here/विचार प्रकट करिए..:

parul chandra said...
This comment has been removed by the author.
parul chandra said...

आपकी सोच को सलाम... वाह!

Priyanka Jain said...

सादर आभार पारुल जी..!!