Tuesday, April 5, 2011

'माँ..'


...


"थका हूँ..
जब राहों पर..
थामा हाथ..
ढाढ़स बँधाया..
कृतज्ञ हूँ..
माँ..!!!"


...

2 ...Kindly express ur views here/विचार प्रकट करिए..:

यशवन्त माथुर said...

बहुत ही प्यारे अलफ़ाज़!

Priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद यशवंत माथुर जी.!!