Thursday, March 4, 2010

''मेरा पहला आईना..'




...

"चाँद मेरा सिमटा रहा..
शब भर..
रूह की गहराई नापता रहा..
शब भर..
मोल फिज़ा का लगता रहा..
शब भर..
बारिश की वो पहली बूँद-सा..
मेरा पहला प्यार..
मेरा पहला रूमानी एहसास..
मेरा पहला आईना..!!"

...

6 ...Kindly express ur views here/विचार प्रकट करिए..:

M VERMA said...

वो पहला --
वो पहला --
वाकई पहले की बात ही कुछ और है

Randhir Singh Suman said...

nice

Unknown said...

mera pahla rumani ahsaas.......achhi line aur achhi abhivykti.

VIKAS PANDEY

http://vicharokadarpan.blogspot.com/

Unknown said...

धन्यवाद विकास जी..!

Unknown said...

धन्यवाद सुमन जी..!!

Unknown said...

धन्यवाद वर्मा जी..!!