Wednesday, August 8, 2012

'जज़्बात..'

...

"इक हसीं सौगात..
ज़ख्म बेहिसाब..

बिखरे जज़्बात..!!"

...

1 ...Kindly express ur views here/विचार प्रकट करिए..:

दिगंबर नासवा said...

जख्म जब सौगात हैं तो जज्बात की क्या फ़िक्र ...
लाजवाब ...