Friday, January 15, 2010

'रूमानी रिश्ते..'



...


"खुशबू साँसों में..
समाये जैसे..

परिंदे पिंजरे उड़ा..
मुस्काये जैसे..

ख़त संदूक में..
गुनगुनाये जैसे..

बेल शाख पे
अंगड़ाये जैसे..

मुसाफिर राहों को..
थकाये जैसे..

मेहँदी कलाईयों को..
सजाये जैसे..

चिराग हवाओं को..
जमाये जैसे..

चाँदनी सितारों से..
शरमाये जैसे..

..

रूमानी रिश्ते..
पाक़ ही होते हैं..!"

...

2 ...Kindly express ur views here/विचार प्रकट करिए..:

Udan Tashtari said...

रुमानी रिश्ते
पाक ही होते हैं..!!

-बहुत सुन्दर!!

Unknown said...

धन्यवाद उड़न तश्तरी जी..!!