Thursday, October 13, 2011

'स्नेह-वर्षा..'





...


"जीवन क्या है..
तलाश समाप्त हो जाए..
सार नहीं मिलता..

हो जिसके समीप..
आप जैसा माणक..
फिर क्या नहीं मिलता..

एक अदृश्य जादुई करिश्मा..
है तुम्हारी स्नेह-वर्षा..

सच..
सच्ची प्रार्थना से..
क्या नहीं मिलता..!!!!"


..

4 ...Kindly express ur views here/विचार प्रकट करिए..:

सागर said...

ati sundar...

Unknown said...

सही बात...प्रार्थना से क्या नहीं मिलता ...सच्चे दिल से कुछ माँगा जाये,चाहा जाये तो अवश्य मिलता है...और यही दुआ कि जीवन सार समझ पाओ तुम .

priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद सागर जी..!!

priyankaabhilaashi said...

धन्यवाद दी..!!